इन्कम के ये 5 सोरसेज भी हैं टैक्स फ्री

ऐसे 5 टैक्स फ्री सोर्सेज़ जिनसे मिलेगी आपको मदद, जानिए कौन से है ये सोर्स!

ये Income Source होते हैं Tax Free | Tax Free Income Source in India | How to save Tax | Spark News

देश मे एक फाइनेंशियल इयर मे 2 लाख 50 हजार से ज्यादा की कमाई टैक्स के दायरे में आती है और सिर्फ नौकरी ही नहीं बल्कि दूसरे साधनों से होनेवाली कमाई पर भी टैक्स भरना पड़ता है । इसमें ब्याज से होनेवाली कमाई, दूसरे कारोबार से होनेवाली इन्कम और किसी अन्य तरह के इनवेस्टमेंट से होनेवाली कमाई भो शामिल है । बता दे कि आयकर कानून के तहत PF, EPF, PPF और NPS पर टैक्स से छूट के अलावा  5 सोरसेज ऐसे भी हैं जिनके पर कोई टैक्स नहीं देना होता । इसके अलावा कृषि से होनेवाली कमाई पर भी कोई टैक्स नहीं देना होता यानि किसान की खेती से चाहे जितनी भी आमदनी हो उसे उसपर टैक्स नहीं देना होगा । तो जानते है कौन से इन्कम के सोरसेज टैक्स के दायरे में नहीं आते ।

1- शादी मे मिलने वाले गिफ्ट्स

बता दे कि अगर आपको शादी मे कोई गिफ्ट मिला है तो उससे होने वाली इन्कम 100% टैक्स फ्री होगी ।शर्त यह है कि गिफ्ट आपको शादी की तारीख पर या उसके आसपास की किसी भी तारीख को मिला हो। जनरली किसी भी एक फाइनेंशियल इयर मे 50,000 तक के गिफ्ट्स टैक्स फ्री होते हैं पर इससे ज्यादा राशि का गिफ्ट आपकी इन्कम मे जुड़ जाएगा और आपको उस पर स्लैब के अनुसार टैक्स  देना होगा ।

2 पार्टनरशिप वाली कंपनी से होनेवाला  बेनिफिट:

अगर आप किसी कंपनी में पार्टनर है तो आपका मुनाफा टैक्स के दायरे में नहीं आता  क्योंकि कंपनी इस पर टैक्स का भुगतान पहले ही कर चुकी होती है । पर ये सिर्फ मुनाफे पर लागू होता है आपको मिलने वाली सैलेरी पर नही।

3- स्टूडेंट्स को मिलने वाली स्कोलरशिप पर

आप चाहें स्कूल के छात्र है या फिर किसी कालेज के  , चाहे आप सरकारी स्कूल में पढ़ते हैं या प्राइवेट मे या फिर P.hd के स्टूडेंट हैं किसी भी स्तर पर मिलने वाली स्कोलरशिप टैक्स के दायरे में नहीं आती।

4. पैतॄक संपत्ति

आपके माता पिता से मिली संपत्ति पर कोई टैक्स नहीं देना होता  जैसे गहने कैश मकान मगर अगर आप इसे किसी बिजिनेस में इन्वेस्ट करते हैं तो उससे होने वाली इन्कम पर आपको टैक्स भरना होगा ।

5. Gratuity से 20  लाख तक की कमाई पर

अगर आपने किसी संस्था में लगातार 5साल तक काम किया है तो नौकरी छोड़ने पर मिलने वाली Gratuity की रकम भी टैक्स के दायरे में नहीं आती।बता दें कि अगर आप सरकारी कर्मचारी हैं तो 20लाख रू तक और अगर प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं तो 10 लाख तक की Gratuity की रकम टैक्स फ्री है।

अगर आप टैक्स रिटर्न भरने जा रहे हैं  तो पहले सही तरीके से अपनी इन्कम का एनालिसिस कर लें । इन्कम टैक्स लाॅ के तहत PF, PPF, EPF और NPS के साथ ऊपर दिये सोरसेज से होनेवाली कमाई पर कोई टैक्स नहीं देना होता । इसके अलावा 10(10) D  के तहत किसी भी Insurance Policy के mature होने पर मिलने वाली रकम भी टैक्स के दायरे में नहीं आती।

 

 

Show More

Related Articles

Back to top button