पंजाब में दिखा किसान आंदोलन का असर, भाजपा को मिली करारी हार

हालही में पंजाब में निकाय चुनाव हुए हैं जिसमें भाजपा को ज़्यादातर सीटों पर हार का सामना करना पड़ा है। इस हार की वजह, किसान आंदोलन को माना जा रहा है

तीन कृषि कानूनों के खिलाफ देश भर के किसान, तमाम प्रादेशिक सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं। लेकिन सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही। सरकार कानून वापस लेने को तैयार नहीं है वहीँ किसान इसी मांग पर अड़ा है की जब तक कानून वापस नहीं होते तब तक वो घर नहीं लौटेगा। लेकिन केंद्र सरकार में बैठी सत्ता पक्ष भाजपा को अब अपने अड़ियल रवैये का भुगतान भुगतना पड़ रहा है। दरअसल हाल ही में पंजाब में निकाय चुनाव हुए। जिसमें कांग्रेस को ज़्यादातर सीटों पर जीत हांसिल हुई है। वहीँ शिरोमणि अकाली दल से हालही में अलग हुई भाजपा को हार का सामना करना पड़ा है। अभिनेता से नेता बने सनी देओल के चुनावी क्षेत्र में तो पार्टी का खाता तक नहीं खुला और कांग्रेस ने सभी सीटों पर सेंध लगाई है। बता दें की 29 वार्ड में निकाय चुनाव हुए। इस चुनाव में कौन कहाँ से जीता जानिये :

वार्ड नंबर 1- वरिंदर कौर
वार्ड नंबर 2- बलजीत सिंह पाहड़ा
वार्ड नंबर 3- रमनदीप
वार्ड नंबर 4- सुखविंदर सिंह
वार्ड नंबर 5- प्रीतम कौर
वार्ड नंबर 6- बलराज सिंह
वार्ड नंबर 7- दविंदर कौर
वार्ड नंबर 8- जगबीर सिंह पाहड़ा
वार्ड नंबर 9- निर्मल कुमारी
वार्ड नंबर 10- सतपाल
वार्ड नंबर 11- सतिंदर सिंह
वार्ड नंबर 12- सुरजीत सिंह
वार्ड नंबर 13- रानी
वार्ड नंबर 14- रोबिन
वार्ड नंबर 15- सुनीता
वार्ड नंबर 16- प्रशोत्तम लाल शर्मा
वार्ड नंबर 17- सुनीता
वार्ड नंबर 18- बलविंदर सिंह
वार्ड नंबर 19- भावना भास्कर
वार्ड नंबर 20- संजीव कुमार
वार्ड नंबर 21- गुरप्रीत कौर
वार्ड नंबर 22- दरबारी लाल
वार्ड नंबर 23- अरविंदर कौर
वार्ड नंबर 24- वरिंदर कुमार
वार्ड नंबर 25- सुनीता
वार्ड नंबर 26-नरिंदर कुमार
वार्ड नंबर 27- जसबीर कौर
वार्ड नंबर 28-राकेश कुमार
वार्ड नंबर 29- मनिंदरबीर

इन उम्मीदवारों में से आधे से ज़्यादा उम्मीदवार कांग्रेस के हैं। इस चुनाव के ज़रिये एक बात तो स्पष्ट हो गयी की किसान आंदोलन की वजह से पंजाब की जनता ने भाजपा को अपने व्यक्तिगत चुनाव की सूची से भी निकाल फेंका है।

Show More

Related Articles

Back to top button