SBI ने 2 साल के लिए बढ़ा LOAN MORATORIUM, बाकी भी तैयार!

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने कोरोना के कारण प्रभावित हुए अपने रिटेल कर्जदारों को राहत देने के लिए एक स्कीम लेकर आ है। इसमें बैंक या तो 24 महीने तक का मोराटोरियम देगा या फिर लोन को रीस्ट्रक्चर कर के उसकी अवधि को24 महीने तक के लिए बढ़ा देगा। भारतीय स्टेट बैंक के मैनेजिंग डायरेक्टर सीएस शेट्टी ने इस स्कीम की घोषणा करते हुए कहा कि रीस्ट्रक्चरिंग की अवधि इस बात पर निर्भर करेगी कि कोरोना से प्रभावित व्यक्ति की आमदनी कब से शुरू हो सकती है या फिर कब तक वह दोबारा नौकरी पर लग सकते हैं।

यहां आपको बताते है कि रिटेल कर्जदार कौन होते है और रिटेल लोन कितने टाइप के होते है। रीटेल लोन कोई भी व्यक्ति ले सकता है। इसके लिए उसका क्रेडिट स्कोर अच्छा होना जरूरी है। रीटेल लोन में आते है हाउसिंग लोन,एजुकेशन लोन व्हीकल लोन, पर्सनल लोन और लोन अगेंस्ट प्रोपर्टी इत्यादि।

भारतीय स्टेट बैंक की ये सुविधा उन लोगों को मिलेगी, जिन्होंने 1 मार्च 2020 से पहले लोन लिया हुआ है और कोरोना के चलते लॉकडाउन की वजह से उनकी आमदनी प्रभावित हुई है। हालांकि, कर्जदारों को ये साबित करना होगा कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से उनकी आमदनी प्रभावित हुई है। ग्राहकों के आय के स्रोत की पूरी एनालिसिस करने के बाद बैंक ये पता लगाएगा कि एक ग्राहक को कितने दिनों तक मोराटोरियम की सुविधा दी जाए। अब इस स्कीम का लाभ लेने के लिए बैंक ने एक पोर्टल लॉंच किया है, जहां आप अपनी योग्यता (Eligibility) टेस्ट कर सकते है।

आपको पहले वेब एड्रेस sbi.co.in ओपन करना है, जिससे SBI की वेवसाइट खुल जाएगी। जहाँ आपको Relief to Retail Borrowers from Covid 19 Stress लिखा दिखाई देगा। जैसा कि आपको बताया था कि ये सुविधा रिटेल कर्जदारों के लिए दी गई है। अब आप नीचे देखगे तो यहां लिखा है Check Your Eligibility Now, इस पर आपको क्लिक करना है,  जिससे एक नया पेज जाएगा, जहां आपका Loan Account Number मांगेगा। तो यहां पर आप लोन एकाउंट नंबर टाइप कर दें। इसके बाद एक OTP आपके नंबर पर आएगा। इसके बाद जैसे ही आपका नंबर औऱ दस्तावेजों का सत्यापन हो जाएगा, तब आप को एक ‘रेफरेंस नंबर’ दिया जाएगा, जो 30 दिन के लिए वैध होगा। इस अवधि में ग्राहक को बैंक शाखा में जाकर औपचारिकताओं को पूरा करना होगा।

यह सारा प्रोसेस हमारी ऊपर दिखाई दे रही वीडियो के द्वारा भी आसानी से समझ सकते है।

Show More

Sarita Tiwari

An human being, a social worker by heart but professionally I am a journalist.

Related Articles

Back to top button