पडोसी देशों के मुकाबले भारत में पेट्रोल की कीमतों ने लगाया शतक

पेट्रोल के दाम ने नापी ऊंचाइयां, सबसे ज़्यादा पेट्रोल की कीमत वाला देश बना भारत

पेट्रोल के दाम ने देश भर में सबकी नींद उड़ा दी है खासकर उनकी जिनके पास कोई भी व्हीकल है। पर क्या भारत में ही पेट्रोल के दाम ऊंचाइयां छु रहे हैं या फिर बाकी देशों का भी यही हाल है ? इसी के साथ भारत में बढ़ते पेट्रोल के दाम देख, सस्ते दाम में पेट्रोल खरीदने का लोगों ने कौन सा नया तरीका निकाला है। भारत में पेट्रोल का दाम 9 फरवरी से बढ़ना शुरू हुआ जो अब 100 रुपये प्रति लीटर हो चुका है। राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत लगभग 91 रुपये प्रति लीटर है साथ ही डीजल की कीमतों में भी भारी इज़ाफ़ा हुआ है। इसकी कीमतें भी 90 के पार जाती दिखाई पड़ रही है। ऐसे में आप ये जानकार ज़रूर हैरान हो जाएंगे की जहाँ भारत में पेट्रोल, डीज़ल की कीमतें ऊंचाइयां नाप रही हैं वहीँ दूसरी ओर कई ऐसे देश हैं जहाँ पेट्रोल या डीज़ल सिर्फ 2 -10 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। तो आपको बताते हैं की वो देश कौन कौन से हैं ?

  • पहला है वेनेज़ुएला तो www.globalpetrolprices.com वेबसाइट के मुताबिक़ वेनेजुएला में पेट्रोल का दाम सिर्फ 1.45 पैसे प्रति लीटर है।
  • दूसरा है ईरान। तो ईरान में पेट्रोल की कीमत सिर्फ 4.39 पैसे प्रति लीटर है। बता दें की वेनेजुएला के बाद ईरान विश्व का दूसरा देश है जहाँ पेट्रोल की कीमत इतनी सस्ती है
  • तीसरा है अंगोला जहाँ पेट्रोल की कीमत सिर्फ 17.77 पैसे  लीटर है।
  • चौथा है अलजीरिया जहाँ पेट्रोल का दाम 25.03 पैसे प्रति लीटर है।

इन देशों के आलावा बाकी के 4 देश और हैं जहाँ पेट्रोल की कीमत 30 रुपये प्रति लीटर से भी कम है। इन देशों में कुवैत, सूडान, कजाकिस्तान और क़तार शामिल है।

  • कुवैत में पेट्रोल का दाम 25.133 पैसे प्रति लीटर है।
  • सूडान में कीमत 27.407 पैसे प्रति लीटर है।
  • कजाकिस्तान में पेट्रोल की कीमत, 29.657 पैसे प्रति लीटर है।
  • क़तार में यही कीमत 29.825 पैसे प्रति लीटर है।

तो ये कुछ देश हैं जहाँ पेट्रोल की कीमत से जनता की जेब खाली नहीं होगी जैसे भारत में हो रही है।

अब आपके दिमाग में ये सवाल ज़रूर आएगा की इनमें से अधिकतर  देश तेल निर्माता देश हैं तो यहाँ तो पेट्रोल सस्ता होगा ही, तो आपकी इस गलतफैमी को भी दूर कर देते हैं क्यूंकि अमेरिका जैसे दुसरे देशों में भी पेट्रोल की कीमत भारत में पेट्रोल की कीमत से आधी है। वहीँ कई ऐसे देश भी हैं जहाँ पेट्रोल की कीमतों ने भारत को भी पीछे छोड़ दिया है। लेकिन बिज़नेस स्टैंडर्ड की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ भारत के पडोसी देशों सबसे ज़्यादा पेट्रोल की कीमत भारत में ही है वहीँ सबसे ज़्यादा सस्ते दामों में जहाँ पेट्रोल अवेलेबल है वो देश है वेनेज़ुएला।

तो ये तो हुई भारत की दुसरे देशों से पेट्रोल की कीमतों को लेकर तुलना।

अब आपको बताते हैं की भारत में पेट्रोल की बढ़ती कीमतों ने लोगों को कौन सा शॉर्टकट अपनाने पर मजबूर कर दिया है। इस शॉर्टकट के मुताबिक़ इंडिया नेपाल बॉर्डर के बीच पेट्रोल की smuggling  हो रही है। दरअसल नेपाल में भारत के मुकाबले पेट्रोल और डीज़ल की कीमत काफी कम है। नेपाल में पेट्रोल की कीमत नेपाल करेंसी के मुताबिक़ 111.20 रुपये प्रति लीटर है जो भारतीय करेंसी में 69.50 पैसे है। वहीँ डीज़ल की कीमत नेपाली करेंसी में 94.20पैसे प्रति लीटर है जो भारतीय करेंसी के मुताबिक़ 58.88 पैसे प्रति लीटर है। इसलिए इतनी सस्ती कीमत होने की वजह से भारत से लोग नेपाल बॉर्डर जा रहे हैं और वहां से पेट्रोल से भरे गैलन के साथ पकडे जा रहे हैं।

पेट्रोल की smuggling वाले क्षेत्रों में भितिहरवा, बसंतपुर, सेमरीवारी, भालुवहिया, भगा जैसे कुछ एरिया शामिल हैं। अब इसी वजह से पेट्रोल पंप के मालिक स्थानीय प्रशासन से इस धांधलेबाजी की शिकायत कर रहे हैं जिसके बाद smuggling करने वाले कई लोगों की पेट्रोल और डीज़ल से भरी गाड़ियां भी ज़प्त की गयी है। और ऐसे smugglers पर प्रशासन की पेनी नज़र बनी हुई है। लेकिन सवाल अभी भी यही है की भारत में आखिर क्यों पेट्रोल की कीमत ने शतक लगा दिया ? तो आपको बता दें की पेट्रोल की कीमत तय करने में सिर्फ 1 कॉम्पोनेन्ट शामिल नहीं होता बल्कि कई सारे कंपोनेंट्स शामिल होते हैं। वो कंपोनेंट्स क्या हैं ?

पहला कॉम्पोनेन्ट है बेस प्राइस, दूसरा है ट्रांसपोर्टेशन के पैसे, तीसरा है आयल मार्केटिंग कंपनियों ने डीलर्स को तेल दोगुने दाम पर बेचा, चौथा केंद्र सरकार हर लीटर पर टैक्स लगाती है पांचवा है की हर पेट्रोल पंप डीलर आपसे, पेट्रोल की असल कीमत के आलावा कमीशन लेता है। इसके बाद छठा है गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स जिसके जुड़ने के बाद ही पेट्रोल की कीमत बढ़ जाती है और हर उस इंसान की ज़िंदगी में भूचाल ले आती है जिसके पास वेहिकल है।

तो ये है पेट्रोल की कीमतों में इज़ाफ़े का असल फंडा। जिन बढ़ती कीमतों की वजह से पेट्रोल की smuggling का सिलसिला भी जारी है। अब देखते हैं की आने वाले दिनों में पेट्रोल की कीमतों से मिलेगी राहत या फिर एक बार बढ़ती कीमतों से उड जाएंगी नींद।

Show More

Related Articles

Back to top button