MPC का सर्वसम्मति से फैसला, RBI ने नहीं किया रेपो रेट में कोई बदलाव

RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज 4.06.2021 को प्रेस कांफ्रेंस कर किया बड़ा एलान!

RBI MPC Policy Today: आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा, आज की अर्थव्यवस्था को ध्यान में रखते हुए एमपीसी बे ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है .दरअसल 2 जून से चल रही एमपीसी की बैठक आज ख़त्म हो गई है ये बैठक अर्थव्यवस्था के लिहाज़ से काफी अहम् थी ! कोरोना की दूसरी लहर की वजह से देश के कई राज्यों में लॉक डाउन लगाया गया है जिससे आम जीवन बहुत प्रभावित हुआ है और जिसका सीधा असर भारतीय अर्थव्यवस्था पर पड़ा है इस बैठक के दौरान अर्थव्यवस्था के सुधार पर चर्चा हुई और फैसला लिया गया की फाइनेंसियल ईयर 2021-22 में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं होगाऔर इस पर गवर्नर शक्तिकांत दास बोले लगातार बढ़ती महंगाई की वजह से रिज़र्व बैंक के एमपीसी ने पालिसी रेट में कोई बदलाव न करने का फैसला लिया है .आइये जानते है इस मीटिंग में क्या क्या रहा खास :

1 . आरबीआई ने रेपो रेट में कोई चेंज नहीं किया है ये 4% पर बरकरार रहेगा याण२ . यानि कस्टमर्स को एमी और इंटरेस्ट रेट पर कोई राहत नहीं मिली है .

2 .एमएसएफ रेट भी 4.25% पर बरक़रार है.

3 .इस बैठक का मकसद इकनोमिक ग्रोथ को बढ़ावा देना है. जिसको ध्यान में रखते हुए रेवेर्ज़ रेट को 3.35 % और बैंक रेट में भी कोई बदलाव न करते हुए इसे 4.25% पर बरक़रार रखा गया है और इसके लिए मोनेटरी पालिसी को लिबरल रखा गया है .

4. इस मीटिंग के दौरान कई पहलुओं जैसे कोरोना , पीएमई और कम्पनीज में काम ला डाटा को ध्यान में रखते हुए आरबीआई ने रनिंग फाइनेंसियल ईयर 2021-22 में जीडीपी में 9.5% की तेज़ी का हनुमान लगाया है वही ये भी साफ़ किया की इस फाइनेंसियल ईयर की पहली तिमाही में ये 18.5% होगी , दूसरी उमहि में 7.9% , तीसरी तिमाही में 7.2% और चौथी तिमाही में ये 6.6% रहेगी .वही इन्फ्लेशन पर दास ने कहा की सीपीआई 5.1% रहेगी , पहली तिमाही में महंगाई दर 5.20 % होगी दूसरी तिमाही में 5.4% , तीसरी तिमाही में 4.7% और चौथी तिमाही में ये 5.3 % हो सकती है.

5 . डिमांड कम होने से प्राइस प्रेशर भी बना हुआ है ऐसे टाइम में इस तरह का पालिसी सपोर्ट जरुरी है .

6 .एमएसएमई ओके सपोर्ट देने के लिए रिज़र्व बैंक सिडबी को 16000 करोड़ और एडिशनल कॅश की सुविधा भी देगा .

7. इस बैठक के दौरान टूरिस्म और हॉस्पिटैलिटी को भी ध्यान में रखा गया . जिसके तहत 15000 करोड़ की नगद राशि बैंक्स को दी जाएगी जिससे बैंक्स टूर ऑपरेटर , होटल , रेस्टोरेंट , प्राइवेट बस ऑपरेटर को लोन दे सकेंगे .

8. 17.06.2021 को जी -सैप 1.0 के तहत 40,000 करोड़ की गवर्नमेंट सिक्योरिटी खरीदी जाएगी इसमें 10,000 करोड़ में एसडीपी की खरीद होगी और रनिंग फाइनेंसियल ईयर की दूसरी तिमाही में सेकेंडरी मार्किट से जी – सैप 2.0 के तहत 1.20 करोड़ की गवर्नमेंट सिक्योरिटी की खरीद का प्रोग्राम चालू रहेगा . इस प्रोग्राम का मकसद गवर्नमेंट सिक्योरिटी के रिटर्न को बरक़रार रखना है .

8. आरबीआई ने फॉरेन एक्सचेंज रेगुलेशन मार्किट में भी निवेश किया है और हमारा फोरेक्स रिज़र्व 600 अरब डॉलर होने के करीब पहुंच गया है .

9 एक अगस्त से एनएसीएएच यानि नेशनल ऑटोमेटेड क्लीयरिंग हाउस हर दिन उपलभ्ध होगा . हलाकि वर्तमान में ये सर्विस बैंक्स को सभी वर्किंग डेज में उपलभ्ध है . रिज़र्व बैंक का कम्युनिकेटिव इंटेंसिव एरिया को लिक्विडिटी सपोर्ट इन एरियाज को क़र्ज़ से निजात पाने में मदद करेगा और सिस्टम को रिस्क फ्री करने के लिए क्रेडिट गारंटी की जरुरत हो सकती है !

 

RBI MPC Policy | Repo Rate not changed by RBI, Interest Rates remain Unchanged | Spar News Today

#RBIMPCPolicy #RBIPolicy #RBIMonetaryPolicy #RBINews #RIUpdate #HindiNews

Reserve Bank of India, Shaktikanta Das, RBI MPC Policy Today, RBI MPC policy,RBI repo rate 2021,RBI MPC meeting live,RBI MPC latest news,RBI MPC june,interest rate,RBI interest rate,RBI interest rate in hindi,RBI interest rate 2021,RBI monetary policy,RBI monetary policy 2021,RBI monetary policy in hindi,RBI policy,RBI policy today live,RBI policy today,RBI policy today live in hindi,tikhibat,hindi news,hindi khabar,banking news,RBI news

Show More

Related Articles

Back to top button