केजरीवाल ने लगाया बीजेपी पर आरोप, कहा दिल्ली हिंसा के पीछे बीजेपी का हाथ

मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल मेरठ में किसानों की महापंचायत में बीजेपी पर जमकर बरसे हैं। इस सम्बोधन में केजरीवाल ने बीजेपी पर कई आरोप लगाए

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल फुल फॉर्म में बीजेपी को घेरते नज़र आये हैं। केजरीवाल ने किसान आंदोलन के लिए राजधानी दिल्ली में ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के पीछे बीजेपी का हाथ बताया है। दरअसल हालही में अरविन्द केजरीवाल मेरठ में किसानों की महापंचायत में शरीक़ हुए जहाँ उन्होंने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाया है की 26 जनवरी को दिल्ली में जो हिंसा हुई उसमें बीजेपी का हाथ था।

केजरीवाल यहीं नहीं रुके बल्कि उन्होंने किसानों के साथ हो रही नाइंसाफी के पीछे बीजेपी की बुरी नीयत को वजह बताया। इस सम्बोधन में सबसे ज़्यादा दिलचस्प बात ये थी की जनसभा में मौजूद लोग ही अरविन्द केजरीवाल को बीजेपी सरकार से जुडी खामियां और परेशानियां बता रहे थे जिस पर एक ओर से नहीं बल्कि दोनों ओर से चर्चा जारी थी। अरविन्द केजरीवाल ने अपने इस सम्बोधन में सरकार बदलने की बात कही साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से ये सवाल भी किया की आखिर आप किस मजबूरी में जी रहे हैं। अरविन्द केजरीवाल ने MSP को लेकर भी बड़ा बयान दिया।

अरविन्द केजरीवाल का इस महापंचायत में शामिल होना, बीजेपी शासित राज्य के मेरठ में सरकार पर निशाना साधना, किसानों की हक़ की बात करना, साथ ही उत्तर प्रदेश को दिल्ली के मार्ग पर ले जाने की बात कहना। कहीं न कहीं ये सब उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर एक संकेत है। सबसे गौर करने वाली बात यह है की उत्तर प्रदेश की इस रैली में अरविन्द केजरीवाल की जनसभा में उन्हें जिस तरह का समर्थन मिलता दिखाई दिया है वो वाकई आगामी विधानचुनाव में आम आदमी पार्टी की शानदार एंट्री की ओर निशाना कर रहा है। क्यूंकि इस सम्बोधन में अरविन्द केजरीवाल ने सिर्फ किसानों की बात नहीं की है बल्कि किसानों के साथ साथ उत्तर प्रदेश की जनता को बिजली, पैसा, पेट्रोल, डीज़ल, गैस सिलेंडर और ऐसी तमाम सुविधाएं देने का वादा भी किया है। ऐसे में

अरविन्द केजरीवाल के बयान पर बीजेपी के नेताओं का तिलमिलाहट भरा बयान सामने आ रहा है। बीजेपी नेता राकेश सिन्हा ने अपने बयान में कहा की “26 जनवरी को जो कुछ भी हुआ उसमें शामिल आरोपियों को केजरिवाल बचाना चाहते हैं।” सिन्हा ने कहा की “इस हिंसा के पीछे उन ताकतों का हाथ है जिनसे अरविन्द केजरीवाल मिलते रहे हैं।” वहीँ मीनाक्षी लेखी ने कहा की “किसान तो एक बहाना है, असलियत में देश को नुक्सान पहुंचाना और राजनैतिक लाभ उठाना इनका काम है।”

अरविन्द केजरीवाल की इस हुंकार से इतना तो साफ़ हो गया है की उत्तर परदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी पूरे दमखम और जोश के साथ चुनावी मैदान में उतरने के लिए तैयार है जिससे राजनैतिक गलियारों में खलबली मच गयी है। आम आदमी पार्टी इस वक़्त उत्तर प्रदेश में अपनी सियासी हवा चलाने के लिए बिलकुल तैयार नज़र आ रही है। केजरीवाल ने बीजेपी को आड़े हाथों लिया है, इस सम्बोधन में केजरीवाल द्वारा उत्तर प्रदेश में राज्य और केंद्र सरकार की जितनी पोल खोली गयी है वो बीजेपी के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है जिसका हर्जाना बीजेपी को आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में उठाना पड़ सकता है।

Show More

Related Articles

Back to top button