रॉबर्ट वाड्रा के ऑफिस पर आयकर विभाग का छापा

72 लाख रुपये की संपत्ति पर कमाया था 4.43 करोड़ रुपये का मुनाफा

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के पति तथा कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा से आयकर विभाग के अधिकारियों द्वारा बेनामी संपत्ति केस में पूछताछ की जा रही है। आयकर विभाग के मुताबिक उन्होंने इस मामले में पहले रॉबर्ट वाड्रा को नोटिस भेजा था। लेकिन वह आयकर ऑफिस नहीं पहुंचे. जिसके बाद अधिकारी सीधे जांच के लिए रॉबर्ट वाड्रा के ऑफिस पहुंच गए। जिसमें उनसे पूछताछ की जा रही है और बयान दर्ज किया जा रहा है। रॉबर्ट वाड्रा से जुड़े सूत्र बताते हैं कि वह कोरोना महामारी के कारण आयकर विभाग की जांच में शामिल नहीं हो पाए थे।

सूत्रों के मुताबिक यह पूछताछ रॉबर्ट वाड्रा के साउथ ईस्ट दिल्ली के सुखदेव विहार ऑफिस पर की जा रही है। माना जा रहा है कि आयकर विभाग की टीम रॉबर्ट वाड्रा से बीकानेर और फरीदाबाद जमीन घोटाले के सिलसिले में पूछताछ कर रही है।

ज्ञात रहे कि रॉबर्ट वाड्रा की फर्म सनलाइट हॉस्पिटैलिटी पर राजस्थान के बीकानेर में जमीन घोटाले का आरोप है। सूत्रों के अनुसार वाड्रा के ओनरशिप वाली स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी ने 69.55 हेक्टेयर जमीन 72 लाख रुपये में खरीदी थी और फिर इसे एलेगेनी फिनलेज़ को 5.15 करोड़ रुपये में बेच दिया था। मतलब इस डील से उन्होंने सिर्फ 72 लाख रुपये लगाकर सीधे 4.43 करोड़ रुपया मुनाफा कमाया। जाँच एजेंसियों को इसी बात को लेकर उनपर शक है।

ज्ञात रहे कि रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ आयकर के अलावा प्रवर्तन विभाग (ईडी) भी मनी लांड्रिंग केस की जांच कर रहा है। उनके ऊपर लंदन में संपत्ति की खरीद के लिए मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं। वाड्रा पर ब्रायनस्टन स्क्वायर में 1.9 मिलियन पाउंड की कीमत का मकान खरीदने का आरोप है और वह फिलहाल अग्रिम जमानत पर हैं।

रॉबर्ट वाड्रा ज़मीन की खरीद-फरोख्त में अनियमितताओं को लेकर कई बार विवादों में आ चुके हैं और उनके ऊपर इस सम्बन्ध में कई केस चल रहे हैं। जिसको लेकर अकसर राजनैतिक बयानबाज़ी भी सामने आती रहती हैं।

Show More

Related Articles

Back to top button