बड़ी खबर: बिहार विधानसभा के नए अध्यक्ष तथा अन्य प्रमुख ख़बरों पर चर्चा

आज बड़ी खबर हम बात सबसे पहले आपको बतायेंगे बिहार विधानसभा के नव निर्वाचित स्पीकर के बारें में और इसके बाद हम दिन भर की औऱ भी मुख्य खबरों से आपको रूबरू कराएँगे तो चलिए वीडियो को शुरू करते है।

विजय सिन्हा बने बिहार विधानसभा अध्यक्ष

पहली बड़ी खबर खबर बिहार से है जहां बिहार विधानसभा को नया अध्यक्ष यानि स्पीकर मिल गया है। एनडीए। प्रत्याशी विजय सिन्हा को बिहार विधानसभा के अध्यक्ष की कुर्सी के लिए चुना गया।बता दें कि सिन्हा एनडीए में बीजेपी पार्टी से है। तो कह सकते है कि बीजेपी ने अपना प्रत्याथी बहुमत से विधानसभा के स्पीकर के पद पर बैठा ही दिया। बता दें कि चुनाव में 240 विधायकों ने वोटिंग की।जिसमें एनडीए के उम्मीदवार विजय सिन्हा को 126 और महागठबंधन को 114 वोट मिले हैं।सिन्हा के अधयक्ष चुने जाने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने स्पीकर को उनकी कुर्सी तक पहुंचाया और अध्यक्ष चुने दाने की बधाई भी दी। वोटिंग के दौरान महागठबंधन के विधायकों ने सीक्रेट वोटिंग की मांग की थी, जिसे प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने ठुकरा दिया।
अब थोड़ा आपको विजय सिन्हा के बारे में बतातें है ।

विजय कुमार सिन्हा के जीवन के बारे में कुछ बातें आपको बताते हैं। विजय कुमार सिन्हा, बिहार राज्य सरकार में श्रम संसाधन मंत्री रह चुके हैं। इस बार लखीसराय से तीसरी बार लगातार विधायक चुने गये। 54 वर्षीय विजय कुमार सिन्हा , भूमिहार समाज से आते हैं। विजय सिन्हा ने पहले इंजीनियरिंग को अपना करियर चुना था। लेकिन फिर इनकी किस्मत इन्हें राजनीति में ले आई। बचपन में ही यह RSSसे स्वयंसेवक के रूप में जुड़े गए थे। पॉलिटेक्निक कॉलेज में पढ़ते हुए 1985 में राजकीय पॉलिटेक्निक मुजफ्फरपुर छात्र संघ के अध्यक्ष बनाए गए।

1990 में सिन्हा को राजेन्द्र नगर मंडल पटना महानगर बीजेपी में उपाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी मिली। 2002 में विजय कुमार सिन्हा। भारतीय जनता युवा मोर्चा, बिहार के प्रदेश सचिव बनाए गए। इसके बाद उन्होंने तीन बार लखीसराय से ही चुनाव जीता। तो विधानसभा में काफी हंगामे के बीच विजय सिन्हा स्पीकर चुन जा चुके है। वहीं महागठबंधन के प्रत्याशी ने भी 114 वोट पाए तो कह सकते है कि मुकाबला टक्कर का था।

कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल नहीं रहे

बताया जा रहा है कि अहमद पटेल कुछ दिनों पहले वो कोरोना पॉजीटिव पाए गए थे। जिसके बाद उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। उनके बेटे फैसल पटेल ने ट्वीट करके उनके निधन की जानकारी दी। पटेल के निधन पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दुख जताया है। उन्होंने कहा, मैंने एक अपरिवर्तनीय कॉमरेड, एक वफादार सहयोगी और एक दोस्त खो दिया है। सोनिया गांधी ने कहा, अहमद पटेल के रूप में मैंने एक सहयोगी को खो दिया है। जिसका पूरा जीवन कांग्रेस को समर्पित था। मैं एक अपरिवर्तनीय कामरेड एक वफादार सहयोगी और एक दोस्त खो चुकी हूं। उनके शोक संतप्त परिवार के प्रति मेरी पूरी सहानुभूति है।

आप को बता दें कि अहमद पटेल सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार रहे, पटेल तीन बार लोकसभा सांसद और पांच बार राज्‍यसभा सदस्‍य रहे। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के जमाने में से पटेल कांग्रेस के साथ जुडे रहे थे। वह सोनिया गांधी के बेहद करीबी रहे। वहीं राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने भी ट्वीट कर दुख व्यक्त किया। राहुल ने लिखा कि ये एक दुखद दिन है। अहमद पटेल कांग्रेस पार्टी के एक स्तंभ थे। उन्होंने कांग्रेस पार्टी को जिया और सबसे कठिन समय में पार्टी के साथ खड़े रहे। वो अतिमहत्वपूर्ण थे। हम उन्हें याद करेंगे। फैसल, मुमताज और परिवार को मेरा प्यार और संवेदनाएं।

अहमद पटेल के निधन पर कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने शोक जताते हुए अपने ट्वीट में लिखा कि अहमद जी न केवल एक बुद्धिमान और अनुभवी सहकर्मी थे, जिनसे मैं लगातार सलाह और परामर्श लेती थी। वे एक ऐसे दोस्त थे जो हम सभी के साथ खड़े रहे, दृढ़, निष्ठावान और अंत तक भरोसेमंद रहे। उनका निधन एक विशाल शून्य छोड़ देता है। उनकी आत्मा को शांति मिले। इसके अलावा दिल्ली के मुख्यमत्री अरविंद केजरीवाल समेत कई नेताओं ने शोक जताया।

जम्मू-कश्मीर में बने गुपकार गठबंधन में कांग्रेस होगी शामिल!

अगली खबर जम्मू-कश्मीर से है जहां जिला विकास परिषद् यानि डीडीसी पंचायतों एवं शहरी स्थानीय निकायों के चुनाव होने जारहे हैं।धारा 370 हटने, लद्दाख के पृथक हो जाने और जम्मू-कश्मीर के केंद्र-शासित राज्य बन जाने के पश्चात होने वाले चुनाव अनेक दृष्टियों से महत्वपूर्ण हैं। चुनावों को देखते हुए, कांग्रेस, पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस जैसी पार्टियों ने मिलकर नया गठबंधन बनाया है, इस नए गठबंधन को गुपकार अलायंस नाम दिया गया है। कांग्रेस पार्टी इस गुपकार गठबंधन के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। कांग्रेस का तर्क है कि जब बीजेपी स्वयं पीडीपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ सकती है तो कांग्रेस क्यों नहीं ?

26 नवंबर को राष्ट्रव्यापी हड़ताल, बैंक भी रहेंगे बंद

अगली खबर की तरफ रूख करते हैं केंद्रीय ट्रेड यूनियनों की 26 नवंबर को राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल है, जिसको को लेकर कल कई बैंकों में कामकाज ठप्प रहेगा। हड़ताल में अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ ने भी शामिल होने की घोषणा की है। जिसमें हजारों बैंक कर्मी होगें। अगर आपको बैंकिंग से जुड़े काम कराने हैं तो आज निपटा लें क्योंकि 26 नवंबर को देश के अधिकतर बैंकों में कामकाज नहीं होगा। ज्यादातर बैंकों ने अपने ग्राहकों के लिए सोशल मीडिया के जरिए एक अलर्ट मैसेज भी जारी कर दिया है। हालांकि हड़ताल से डिजीटल लेनदेन पर असर नहीं पड़ेगा। अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ के मुताबिक “लोकसभा ने हाल में संपन्न सत्र में 3 नए श्रम कानूनों को पारित किया है और कारोबार सुगमता के नाम पर 27 मौजूदा कानूनों को समाप्त कर दिया है। ये कानून शुद्ध रूप से कॉरपोरेट जगत के हित में हैं। इस प्रक्रिया में 75 प्रतिशत श्रमिकों को श्रम कानूनों के दायरे से बाहर कर दिया गया है। नए कानूनों में इन श्रमिकों को किसी तरह का संरक्षण नहीं मिलेगा।’

तमिलनाडु औऱ पॉडिचेरी के तट से चक्रवाती तूफान निवार के टकराने की आशंका

आगे बढ़ते है तमिलनाडु औऱ पॉडिचेरी के तट से कल यानि 26 नवंबर को चक्रवाती तूफान निवार के टकराने की आशंका है। जिसे देखते हुए अलर्ट जारी कर दिया गया है।.बताया जा रहा है कि तूफान की गति 120-130 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी जो बढ़कर 145 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है।” बता दें कि चेन्नई और आसपास के क्षेत्रों में रातभर बारिश हुई और निचले स्थानों में जलभराव हो गया। वहीं लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने कहा कि चेम्बरमबक्कम झील से एक हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जाएगा क्योंकि इसमें पानी अधिकतम स्तर पर पहुंचने वाला है। वहीं पुडुचेरी के सीएम वी. नारायणसामी ने बताया, ‘सभी विभाग हाई अलर्ट पर हैं और पानी, बिजली की बहाली के लिए करीबी सहयोग से काम करेंगे। हम यह सुनिश्चित करने के लिए ओवरटाइम काम कर रहे हैं कि चक्रवात के चलते किसी तरह की जनहानि न हो।’

न्यूजीलैंड के क्रिकेट प्रमुख ग्रेग बार्कले बने आईसीसी के नए चेयरमैन

अब खबर खेल जगत से, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद यानि आईसीसी के नए चेयरमैन की घोषणा हो चुकी है।आईसीसी ने न्यूजीलैंड के क्रिकेट प्रमुख ग्रेग बार्कले को अपने चेयरमैन पद की जिम्मेदारी सौंपी है। ग्रेग को दूसरे चरण के मतदान के बाद चेयरमैन चुना गया। बता दें कि, आईसीसी के पूर्व चेयरमैन शशांक मनोहर की कार्यकाल अवधि इस साल जुलाई में खत्म हो गई थी, जिसके बाद इमरान ख्वाजा को अंतरिम चेयरमैन बनाया गया था। ग्रेग 2012 से न्यूजीलैंड क्रिकेट के डायरेक्टर थे, और उन्हीं की देखरेख में न्यूजीलैंड ने ऑस्ट्रेलिया के साथ 2015 विश्व कप की मेजबानी की थी।

आईसीसी का चेयरमैन चुने जाने के बाद ग्रेग ने कहा, आईसीसी के अध्यक्ष के रूप में चुना जाना मेरे लिए सम्मान की बात है। मैं अपने साथी निदेशकों को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देना चाहूंगा।. मुझे उम्मीद है कि हम खेल का नेतृत्व करने के लिए एक साथ काम करेंगे और एक मजबूती की साथ कोरोना महामारी से निकलकर अच्छी स्थति में आएंगे। ग्रेग आइसीसी बोर्ड में न्यूजीलैंड क्रिकेट के प्रतिनिधि थे, लेकिन अब वो अपने इस पद से इस्तीफा दे देंगे और आइसीसी के चेयरमैन का पद संभालेंगे।

दिल्ली की वायु गुणवत्ता बहुत खराब से गंभीर की श्रेणी में

आज की आखिरी खबर है दिल्ली से जहां दिल्ली की वायु गुणवत्ता आज यानि बुधवार सुबह बहुत खराब से गंभीर की श्रेणी में आ गई। दिल्ली का एक्यूआई 15 नवंबर तक “गंभीर” की श्रेणी में था लेकिन इसके बाद इसमें सुधार आया और यह 22 नवंबर तक ‘खराब’ अथवा ‘मध्यम’’ की श्रेणी में रहा। केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के ऐप समीर के अनुसार शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक 401 रहा। वहीं मंगलवार को एक्यूआई 388, सोमवार को 302, रविवार को 274, ।।बता दें कि शून्य से 50 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘अच्छा’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘अत्यंत खराब’ और 401 से 500 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘गंभीर’श्रेणी में माना जाता है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की निगरानी प्रणाली सफर के अनुसार बुधवार को एक्यूआई में सुधार के आसार हैं।

देश और दुनिया की हर खबर पर नज़र रखने के लिए हमारे न्यूज़ चैनल स्पार्क न्यूज़ को सब्सक्राइब कर लें और सामने बने बेल आइकॉन को भी भी प्रेस कर दें, इससे हमारी वीडियोज़ आपतक तुरंत पहुँच जाएंगी।

Show More

Sarita Tiwari

An human being, a social worker by heart but professionally I am a journalist.

Related Articles

Back to top button