टैक्सपेयर्स के लिए बड़ी खुशखबरी, नहीं भरा FY21 का ITR, तो भर पाएंगे

सरकार ने देश भर के टैक्सपेयर्स को बड़ी राहत देते हुए फाइनेंशियल ईयर 2021 का आयकर रिटर्न भरने के लिए सितंबर तक, टाइम पीरियड बढ़ा दिया है !

Big news for taxpayers | Income Tax Return Last Date Extended | FY21 ITR | Spark News

हर साल आप इनकम टैक्स रिटर्न पे करते हैं लेकिन अगर आपने फाइनेंशियल ईयर 2021 का इनकम टैक्स रिटर्न अभी तक नहीं भरा है तो घबराईए मत क्योंकि सरकार की ओर से इस मामले में राहत देते हुए आईटीआर दाखिल करने के टाईम पीरियड को बढ़ा दिया गया है! यानी ये टाईम पीरियड बढ़ाकर 31 सितंबर 2021 तक करोगे दिया गया है! अब कंपनियां 30 नवंबर तक पिछले वित्त वर्ष का इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल कर सकेंगी। साथ ही देर से या संशोधित आयकर रिटर्न अब 31 जनवरी, 2022 तक दाखिल किए जा सकते हैं।

आपको बता दें की अगर आप एक टैक्सपेयर है तो आप अपना रिटर्न ऑनलाइन भी फाइल कर सकते हैं! इसके लिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने www.incometaxindiaefiling.gov.in पर पूरी जानकारी मुहैया करवा रखी है!

अगर आपके दिमाग में इसके लिए ज़रूरी डाक्यूमेंट्स को लेकर सवाल है तो ध्यान रहे कि इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए PAN, Aadhaar, बैंक अकाउंट नंबर, इन्वेस्टमेंट डिटेल्स और उसके प्रूफ/सर्टिफिकेट, फॉर्म 16, फॉर्म 26 AS चाहिए होगा!

आपको बता दें की आईटीआर भरने के बाद वेरिफिकेशन ज़रूरी है! आपको याद रहे कि इलेक्ट्रॉनिक मोड से बिना डिजिटल सिग्नेचर यानी बिना ई-वेरिफिकेशन आयकर रिटर्न (ITR) फाइल करने वाले करदाता को इसे ITR अपलोडिंग के 120 दिनों के अंदर वेरिफाई करना होता है। तय टाईम पीरीयड के अंदर ITR को वेरिफाई न करने पर रिटर्न को ‘नहीं भरा हुआ’ यानी इनवैलिड करार किया जा सकता है। पर 6 तरीकों की मदद से ITR को वेरिफाई किया जा सकता है-

1. नेटबैंकिंग की मदद से

2. बैंक के एटीएम की मदद से

3. आधार OTP के जरिए

4. बैंक अकाउंट के जरिए ई-वेरिफिकेशन

5. डीमैट अकाउंट नंबर के जरिए रिटर्न ई-वेरिफाई कराएं

6. ऑफलाइन रिटर्न वेरिफिकेशन

कोरोना की वजह से पूरा देश आर्थिक मंदी का शिकार हो रहा है लेकिन कुछ ऐसे लोग है जो टैक्स पे करना चाहते थे लेकिन नहीं कर पाए! ऐसे में सरकार के इस फैसले उन सभी को राहत मिल सकती है!

Show More

Related Articles

Back to top button