राहुल और सोनिया गांधी कांग्रेस के 136वें स्थापना दिवस का ह‍िस्सा क्यों नहीं बने?

स्पार्क न्यूज़ ब्यूरो, दिल्ली | कांग्रेस के 136वें स्थापना दिवस पर आज पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के कई अन्य नेताओं ने शुभकामनाएं दीं और देश की आजादी और विकास में कांग्रेस के योगदान को याद किया । इसके साथ ही कांग्रेस मुख्यालय में वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में ध्वजारोहण किया गया।

पार्टी सूत्रों का कहना है कि कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति को देखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को सलाह दी गई थी कि वह पार्टी मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में शामिल ना हों और इस कारण कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ए के एंटनी ने ध्वजारोहण किया। कांग्रेस मुख्यालय में ध्वजारोहण कार्यक्रम में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा, वरिष्ठ नेता एंटनी, गुलाम नबी आजाद, केसी वेणुगोपाल, पवन कुमार बंसल, राजीव शुक्ला और कई अन्य नेता शामिल हुए। राहुल गांधी के निजी दौरे पर विदेश में होने के कारण वह इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए।

सूत्रों का कहना है कि वह अपनी नानी से मुलाकात करने इटली गए हैं और कुछ दिनों के भीतर स्वदेश लौट आएंगे। स्थापना दिवस पर राहुल गांधी ने ट्वीट किया, देश हित की आवाज़ उठाने के लिए कांग्रेस शुरू से प्रतिबद्ध रही है। आज कांग्रेस के स्थापना दिवस पर, हम सच्चाई और समानता के अपने इस संकल्प को दोहराते हैं। जय हिंद’’ कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘‘भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के ‘स्थापना दिवस’ पर शुभकामनाएं। कांग्रेस देश सेवा है,कांग्रेस कर्तव्य है, कांग्रेस क़ुर्बानी है,कांग्रेस अर्पण है, कांग्रेस समर्पण है,कांग्रेस निरंतर बदलाव की सूचक है। आइये, इस ‘सेवा ही संकल्प’ के भाव को सुदृढ़ करें।’’ पार्टी अपने स्थापना दिवस पर देश भर में ‘तिरंगा यात्रा’ निकाल रही है और उसने सोशल मीडिया में ‘सेल्फी विद तिरंगा’ नामक अभियान चलाया है। इस अभियान के तहत कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता सोशल मीडिया मंचों पर तिरंगे के साथ अपनी तस्वीरे और वीडियो पोस्ट कर रहे हैं।

Show More

Related Articles

Back to top button