दुर्गेश पाठक ने बीजेपी पर लगाया बड़ा आरोप – दिल्ली MCD में 8 करोड़ का काम 180 करोड़ में कराया गया

कूड़ा हटाने वाली मशीन की कीमत 8.5 करोड़ रुपया है, जबकि बीजेपी शासित दिल्ली नगर निगम ने उसे 8.5 करोड़ रूपये में खरीदने की जगह किराए पर 180 करोड़ खर्च किया, दिल्ली बीजेपी पर यह आरोप लगाया है आम आदमी पार्टी के निगम प्रभारी दुर्गेश पाठक ने. उन्होंने एक बार फिर ऑडिट रिपोर्ट का हवाला देकर बीजेपी शासित दिल्ली नगर निगम (MCD) पर भ्रष्टाचार और जनता के पैसे के दुरूपयोग का आरोप लगाया है.

आम आदमी पार्टी (AAP) का आरोप है कि कूड़े के पहाड़ से कूड़ा हटाने वाली मशीन को 8.5 करोड़ में खरीदने की बजाय किराये पर लिया गया. जिसके चलते बतौर किराया करीब 180 करोड़ का बिल बना. हालांकि, जवाब में दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता ने भी ‘आप’ नेता को तथ्यों की जांच करने की सलाह दी है.

AAP के MCD प्रभारी दुर्गेश पाठक ने ऑडिट रिपोर्ट के हवाला से बीजेपी पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए हैं. दुर्गेश पाठक के अनुसार “एमसीडी ने कूड़े के पहाड़ों को हटाने के लिए 50 मशीनें 5 साल के लिए किराये पर लीं. एक मशीन का किराया 6 लाख रुपये महीना है, इस तरह 50 मशीनों का 5 साल का किराया 180 करोड़ रुपये हुआ. जबकि एमसीडी 50 मशीनें 8.5 करोड़ रुपये में खरीद सकती थी. लेकिन जो काम 8.5 करोड़ रुपये में हो सकता है, बीजेपी भ्रष्टाचार करने के लिए उसी काम को 180 करोड़ में करा रही है.”

AAP नेता तथा MCD प्रभारी दुर्गेश पाठक ने भलस्वा लैंडफिल साइट से संबंधित एक ऑडिट रिपोर्ट के हवाले से यह आरोप लगाया है. उन्होंने बताया कि जिस एक मशीन के लिए बीजेपी एक महीने के लिए 6 लाख रुपये किराया दे रही है, बाजार में उस मशीन की पूरी कीमत ही मात्र 17 लाख रुपये है. उन्होंने ने बताया कि यदि बीजेपी शासित नगर निगम इन 50 मशीनों को बाजार से खरीदना चाहती तो कुल 8.5 करोड रुपये में 50 मशीनें खरीदी जा सकती हैं. परन्तु इसकी जगह बीजेपी शासित दिल्ली MCD ने 8.5 करोड रुपया खर्च करने की जगह 180 करोड रुपया किराए के तौर पर अदा किया। ज्ञात रहे कि दिल्ली नगर निगम बजट नहीं होने की बात कहकर अक्सर कर्मचारियों का वेतन लटकाती आ रही है, हालाँकि ऑडिट रिपोर्ट में पैसे की इस तरह खुलेआम बर्बादी की बातें सामने आ रही है. जिसकी वजह से आम आदमी पार्टी बीजेपी के ऊपर भ्रष्टाचार और जनता के पैसे की बर्बादी का आरोप लगा रही है.

दुसरी तरफ इस मामले पर दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने AAP के इस आरोप को दुखद और झूठ फैलाने वाला बताया. अपने बयान में उन्होंने कहा कि, “यह अत्यंत दुखद है कि आम आदमी पार्टी ने नव वर्ष की शुरुआत लैंडफिल साईट पर प्रयुक्त ट्रोमल मशीनों पर झूठ बोल कर की है. दुर्गेश पाठक ने जो कहा है कि नगर निगमों ने ट्रोमल मशीनों के लेकर पांच वर्ष का कांट्रैक्ट किया है और ट्रोमल मशीन की कीमत 17 लाख है, वो झूठ है.” प्रवीण शंकर कपूर ने बताया कि “पूर्वी निगम आदि के ट्रोमल मशीन कॉन्ट्रैक्ट वार्षिक हैं, इसलिए उनकी 5 साल की लागत का मूल्यांकन बेमानी है. बाजार से सत्यापित किया जा सकता है कि ट्रोमल मशीन की कीमत लगभग 52 लाख होती है. नगर निगमों ने उन्हे प्रयोग खर्च एवं रखरखाव लागत के साथ 6 लाख रूपये प्रति माह के किराये पर लिया है.”

Show More

Related Articles

Back to top button