साहित्य नामा

‘साहित्यनामा’ खंड इस लिहाज़ से महत्त्वपूर्ण है कि इसमें समकालीन – साहित्य के बहसों को आप प्रत्येक सप्ताह पढ़ और देख सकते हैं । इसके साथ कहानी , कविता , साक्षात्कार और पुस्तक – समीक्षा भी पढ़ सकते हैं । पुस्तक – समीक्षा में हमारी कोशिश रहेगी कि वर्तमान के साथ पुरानी लेकिन आज के समय में प्रासंगिक पुस्तकों को नई – पीढ़ी से अवगत कराया जाय । इसी तरह का प्रयोग हम कहानी , कविता और साक्षात्कार में भी करने की चाहत रखते हैं ।

  • राजेश राव
    संपादक
Back to top button