4 बेटियों को गोद लेंगे सोनू सूद- बने पीड़ित परिवार का सहारा

अभिनेता सोनू सूद ने उत्तराखंड में 7 फरवरी की बाढ़ में जान गंवाने वाले एक व्यक्ति की चार बेटियों को गोद लिया है।

कोरोना में लॉकडाउन के समय में गरीबो और ज़रूरतमंदो के मसीहा बने बोलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने 1 बार फिर मदद के लिए आगे हाथ बढ़ाया है।  सोनू सूद अब चमोली आपदा के पीड़ि‍त परिवार का सहारा बने हैं।

सात फरवरी को चमोली जिले के तपोवन इलाके में हैंगिंग ग्लेशियर टूटने के बाद आयी आपदा में बड़े पैमाने पर जानमाल का नुकसान हुआ है। नदियों के मलबे के साथ जो 204 लोग लापता हुए हैं ।उनमें ज्यादातर तपोवन क्षेत्र में स्थापित ऋषिगंगा और विष्णुगाड जल विद्युत परियोजना में काम करने वाले थे। इनमें 61 के शव मिल गए है और बाकी की तलाश जारी है। यह आपदा कई परिवारों को गहरे जख्म दे गई।

उनमे से 1 आलम सिंह पुंडीर भी थे जो की पेशे से एक एलेक्ट्रीशियन थे। जिस समय ये त्रासदी आई, तब आलम एक टनल में ही काम कर रहे थे। जिसकी वजह से उनकी मौत हो गयी। आलम और उनकी पत्नी सरोजनी देवी की 4 बेटियां भी है आंचल (14), अंतरा (11), काजल (08) व दो वर्षीय अनन्या जो की पिता के जाने के बाद बे सहारा हो गयी है।

ये खबर सोनू सूद को जैसी ही मिली उन्होंने चारो बेटियों की ज़िम्मेदारी लेने का निर्णय ले लिया है। उनका कहना है की वे चारो लड़कियों की पढाई से लेकर शादी तक की सारी ज़िम्मेदारी उठाने को तैयार हैं। पुंडीर की पत्नी सरोजनी देवी ने कहा, “बाढ़ की बाढ़ ने मेरे बच्चों के पिता को ले लिया और हमें कहीं नहीं छोड़ दिया। सोनूजी ने हमारे बच्चों का पालन-पोषण करने के लिए गॉडफादर के रूप में आगे आए। मुझे अंधेरे में उतरने से बचाने के उनके इशारे के लिए आभारी हूं। ” गांव के निवासी और पूर्व ग्राम प्रधान हुकुम सिंह भंडारी ने भी बयान देते हुए कहा कि  “हमें श्री सोनू सूद की टीम से आश्वासन मिला है कि वह शिक्षा और शादी से संबंधित खर्च वहन करेंगे। हमारा आशीर्वाद और शुभकामनाएं उनके साथ है।

आपको बता दे की क्षेत्रीय हिंदी समाचार चैनल के मालिक उमेश कुमार ने अभिनेता से संपर्क किया था और परिवार से मदद करने की अपील की थी। इस बारे में सोनू सूद ने एक न्यूज पोर्टल से बात भी की है. एक्टर ने कहा है- ये हर नागरिक की जिम्मेदारी है कि वो इस मुश्किल समय में आगे आकर मदद का हाथ  बढ़ाए। जिन भी लोगों को इस त्रासदी की वजह से बर्बादी झेलनी पड़ी है, उन सभी की हर संभव मदद की जाए।

वैसे ये पहली बार नहीं है जब सोनू सूद की तरफ से इतने बड़े पैमाने पर मदद करने की बात कही गई हो। इससे पहले भी वे बहुत से ज़रुरतमंदो को मदद पंहुचा चुके है। लॉकडाउन के समय में भी उन्होंने लोगो की काफी मदद की थी।

Show More

Related Articles

Back to top button